Rahul Gandhi ने क्यों कहा Rape in India, इसमें गलत-सही क्या है, Parliament में इतना कड़ा विरोध क्यों हुआ?

Updated On: Dec 13, 2019 15:31 IST

Dastak

प्रतीकात्मक तस्वीर

किसी भी मुद्दे पर बात करने और उसपर अपनी प्रतिक्रिया देने से पहले ये जरुरी होना चाहिए कि हम पहले उसे ठीक से समझ लें। राहुल गांधी के “रेप इन इंडिया” बयान पर संसद में स्मृति ईरानी से लेकर भाजपा की अन्य महिला नेताओं ने इतना तीखा विरोध क्यों किया ये जान लेते हैं।

बात कुछ यूं शुरु हुई। दरअसल राहुल गांधी ने गुरुवार को झारखंड में एक चुनावी रैली के दौरान कहा “नरेंद्र मोदी ने कहा था, मेक इन इंडिया, अब आप जहां भी देखो मेक इन इंडिया नहीं, अब है रेप इन इंडिया, अखबार खोलो, झारखंड में महिला के साथ बलात्कार, उत्तर प्रदेश में देखो नरेंद्र मोदी के एमएलए ने महिला का रेप किया, उसके बाद गाड़ी का एक्सीडेंट हो गया नरेंद्र मोदी एक शब्द नहीं बोलता, हर प्रदेश में हर रोज रेप इन इंडिया, नरेंद्र मोदी जी कहते हैं बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ, मोदी जी आप ये नहीं बताते कि किससे बचाना है, आपके एमएलए से बचाना है।’’

दरअसल ये राहुल गांधी का देश में बढ़ रही रेप की घटनाओं पर कटाक्ष था कि किस तरह नरेंद्र मोदी के राज में रेप की घटनाएं बढ़ रही हैं। उन्होंने कहा था कि मेक इन इंडिया लेकिन ये तो रेप इन इंडिया हो गया। इसमें महिलाओं के सम्मान और रेप को बढावा देने जैसा कुछ नहीं है। पहले आपको राहुल गांधी का बयान सुनाते हैं फिर उसपर सत्ता पक्ष की प्रतिक्रिया और उन प्रतिक्रियाओं पर राहुल का पलटवार। नीचे वीडियो में देखिए राहुल का वो विवादित बयान-

https://twitter.com/INCIndia/status/1205141506731859971

तो देखा आपने इस बयान में राहुल गांधी ने ऐसा कुछ नहीं कहा जिससे महिलाओं के सम्मान को ठेस पहुंचे, लेकिन स्मृति ईरानी को इतनी ठेस पहुंची कि उन्होंने इसे संसद में पेश करते हुए कहा कि राहुल गांधी ने कहा है कि हिंदूस्तान की महिलाओं का रेप होना चाहिए। उन्होंने इसे हिंदुस्तान के इतिहास का पहला वाक्या भी बता दिया। लेकिन जैसा स्मृति ईरानी ने कहा वैसा कुछ बोला ही नहीं गया है, जो आपने ऊपर वीडियो में देखा है। अब स्मृति ईरानी वाली वीडियो देख लीजिए-

https://twitter.com/ANI/status/1205377767698661377

वहीं बीजेपी की अन्य महिला सांसद जो बंगाली फिल्मों की अभिनेत्री रही हैं “लॉकेट चटर्जी” ने तो राहुल गांधी के रेप इन इंडिया का मतलब कुछ और ही निकाल लिया और संसद में कहा कि राहुल गांधी ने मेक इन इंडिया को रेप इन इंडिया कर दिया कि आओ भारत में रेप इन इंडिया करो, उन्होंने कहा आओ हमारा रेप करो हम महिलाएं हैं, ऐसा राहुल गांधी कह रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस पार्टी ने पूरे देश का रेप कर दिया है, उनका कल्चर ही ऐसा है कि वो रेप करके महिलाओं को तंदूर में रख देते हैं। देखें ये वीडियो-

https://twitter.com/i/status/1205380512853843968

अब राहुल गांधी ने इस मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया भी दी है और कहा है कि सत्ता पक्ष की मांग के अनुसार अपने इस बयान पर माफी नहीं मांगेंगे। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी ने दिल्ली को रेप कैपिटल कहा था उनके पास वीडियो है वो इसे अभी जाकर पोस्ट करते हैं। राहुल ने आगे कहा कि बीजेपी और नरेंद्र मोदी ने नोर्थ ईस्ट भारत को जलाया है। उससे ध्यान भटकाने के लिए ऐसा किया जा रहा है।

https://twitter.com/i/status/1205394803065794570

 

इसके बाद राहुल गांधी ने अपना वादा निभाते हुए थोडी देर बाद नरेंद्र मोदी के पुराने बयान को ट्वीट कर देते हैं। जिसमें नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनने से पहले कह रहे हैं कि “आप ने दिल्ली को जिस प्रकार से रेप कैप्टिल बना दिया है जिस कराण हिंदुस्तान की पूरी दुनिया में बेइज्जती हो रही है और आपके पास मां-बहनों की सुरक्षा के लिए कोई योजना है न आपमें, कोई दम है, आप कुछ नहीं कर सकते हैं। देखिए ये वीडियो-

https://twitter.com/i/status/1205388149498580992

अब हमारा इस पूरे मुद्दे पर यही कहना है कि बयान पर विवाद बेवजह है लेकिन मुद्दा गंभीर है जिसे दोनों बडे राजनीतिक दल एक दूसरे के ऊपर उछाल रहे हैं। वो सच में कुछ करना चाहते हैं जिससे रेप कम हो सकें, ऐसी संभावनाएं कम नजर आ रही हैं। इसे दोनों पार्टियों ने केवल राजनीतिक मुद्दा बना दिया है और जनता तमाशा देख रही है। बीजेपी हमेशा की तरह राहुल गांधी को निशाना बनाकर अपना खेल खेलना चाहती हैं और राहुल गांधी ने संसद में इन बयानों पर हंसकर खुद के खिलाफ प्रोपोगैंडा बनाने का एक और मकसद दे दिया है, जिसे बीजेपी और उसके सहयोगी चैनल “गंभीर मुद्दों पर राहुल गांधी हंस रहे हैं”- जैसे तरीकों से इस्तेमाल कर रही है।

 

ताजा खबरें