पहलवानों ने धरना किया खत्म, जांच पूरी होने तक WFI के कार्यो से दूर रहेंगे बृजभूषण शरण

WFI के अध्यक्ष बृजभूषण शरण के खिलाफ देश के दिग्गज पहलवान जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे थे। खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से बातचीत के बाद पहलवानों ने इसे वापस ले लिया है। खेल मंत्रालय की कमेटी 4 हफ्ते में इस मामले की जांच करेगी, जब तक के लिए बृजभूषण शरण को WFI के कार्यो से दूर रहने को कहा है।

Updated On: Jan 21, 2023 16:27 IST

Dastak Web Team

Photo Source - Twitter

WFI (रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया) के अध्यक्ष बृजभूषण शरण के खिलाफ पिछले 3 दिन से पहलवान जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे थे। भारत का विश्व में नाम रोशन करने वाले इन पहलवानों ने बृजभूषण शरण पर महिला पहलवानों के साथ यौन शोषण, छेड़छाड़ और मानसिक रूप से परेशान करने जैसे कई गंभीर आरोप लगाए है। प्रदर्शन कर रहे पहलवानों ने भारतीय ओलंपिक संघ को भी पत्र लिखा और अपनी परेशानी बताई थी, इन पहलवानों में ओलंपियन बजरंग पूनिया के साथ विनेश फोगाट, साक्षी मलिक, सरिता मोर समेत 30 पहलवान शामिल है।

यह सभी पहलवान WFI को भंग करने की मांग कर रहे है, विरोध प्रदर्शन के चलते उन्होंने खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से अपनी मांगों को लेकर बातचीत की, जिसके बाद खेल मंत्रालय ने 4 हफ्ते में इस मामले की जांच करने का फैसला सुनाया है। खेल मंत्री से बातचीत के बाद जंतर- मंतर पर बैठे सभी पहलवानों ने फिलहाल के लिए धरना समाप्त कर दिया है।

खेल मंत्री से क्या बातचीत की?

प्रदर्शन कर रहे पहलवानों ने खेल मंत्री के साथ 7 घंटे तक बातचीत की। पहलवानों और खेल मंत्री के बीच करीब 2 दिन तक इस बारे में बातचीत की गई। खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, कि हमने पहलवानों की मांगे भी सुनी और उनके द्वारा लगाए गए आरोप भी, जिसके बाद हमने डब्ल्यूएफआई को नोटिस भेजकर 72 घंटे के भीतर इस बारे में जवाब देने को कहा था लेकिन अभी तक कोई भी सुसंगत उत्तर नहीं मिला है। पहलवान बजरंग पूनिया ने कहा, कि डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष की ओर से पहलवानों को धमकी दी गई है। इस बारे में भी खेल मंत्री ने खिलाड़ियों को आश्वासन दिया है। वही खेल मंत्रालय की ओर से निष्पक्ष जांच के लिए कमेटी गठित करने का ऐलान किया गया है। जिसके लिए चार हफ्तों का समय दिया गया है।

BGI 2023: गूगल और माइक्रोसॉफ्ट के CEO को पछाड़कर, अंबानी बने एशिया के दुसरे सबसे अमीर व्यक्ति

भारतीय ओलंपिक संघ ने गठित की कमेटी-

बृजभूषण शरण पर लगाए गए आरोपों की जांच के लिए भारतीय ओलंपिक संघ ने जांच कमेटी गठित कर दी है। इसके लिए 7 सदस्य कमेटी का गठन किया गया है। इस कमेटी का संचालन एमसी मैरीकॉम और अलकनंदा अशोक उपाध्यक्ष करेंगे। इसके सदस्य सहदेव यादव डोली बनर्जी और योगेश्वर दत्त श्लोक चंद्र तिलक रे आदि रहेंगे और मामले की जांच करेंगे। पहलवान 18 जनवरी से बृजभूषण के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। खेल मंत्रालय द्वारा गठित कमेटी अब इस मामले की और WFI के अध्यक्ष पर लगाए गए आरोपों की गहनता से जांच करेगी।

कहां है, पहले भारतीय अंतरिक्ष यात्री राकेश शर्मा?

ताजा खबरें