कुश्ती फेडरेशन के खिलाफ धरने पर बैठे दिग्गज पहलवान, WFI प्रेसिडेंट के बॉयकॉट की कर रहे मांग

चाहे ओलंपिक खेल रहे हो या कॉमनवेल्थ गेम्स कुश्ती ने भारत को बहुत सफलता दिलाई है, लेकिन अब भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण के खिलाफ ओलंपियन बजरंग पुनिया, विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और सरिता मोर जैसे दिग्गज खिलाड़ी धरने पर बैठे है।

Updated On: Jan 18, 2023 16:40 IST

Dastak Web Team

Photo Source - Twitter

किरण शर्मा

कुश्ती को भारत में पहलवानी के नाम से ज्यादा पुकारा जाता है, भारत ने कॉमनवेल्थ गेम्स में कुश्ती से 102 पदक जीते हैं पर अब कुश्ती की शान बढ़ाने वाले देश के दिग्गज खिलाड़ियों ने भारतीय कुश्ती संघ से नाराज होकर संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और दिल्ली के जंतर मंतर पर धरने पर बैठे हुए हैं।

सभी खिलाड़ी ट्विटर पर ट्वीट कर रहे हैं और ट्वीट में बॉयकॉट WFI प्रेसिडेंट का ट्रेंड चला रहे हैं। इन खिलाड़ियों में ओलंपियन बजरंग पुनिया, साक्षी मलिक, विनेश फोगाट, सरिता मोर और कई खिलाड़ी शामिल है। यह सभी कुश्ती संघ के प्रेसिडेंट बृजभूषण शरण के खिलाफ जंतर-मंतर पर धरना दे रहे हैं। अब तक खिलाड़ियों से मिलने भारतीय कुश्ती फेडरेशन के पदाधिकारी भी पहुंच चुके हैं। यह सभी खिलाड़ी भारतीय कुश्ती फेडरेशन से नाराज है। मीडिया से बातचीत में बजरंग पूनिया ने कहा, कि जब तक हमें इंसाफ नहीं मिलेगा , हम यहां से नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा, कि फेडरेशन हमारे लिए समस्या खड़ी कर रहा है। वही विनेश फोगाट ने कहा, कि हमारी मजबूरी है कि हमें यहां धरना देना पड़ रहा है। जब हम ज्यादा दुखी हो गए, तब हम सबने धरना देने का विचार बनाया। हम सभी पहलवानों को दिक्कत हो रही है हालांकि बजरंग पूनिया और विनेश फोगाट ने साफ तौर पर अपनी समस्याएं नहीं बताई। लेकिन उन्होंने इतना कहा, कि उनकी सारी समस्या फेडरेशन से जुड़ी है। उन्होंने अपनी समस्याओं को फेडरेशन को भी बताया पर कोई बदलाव नहीं किया गया। इसलिए आज शाम 4 बजे सभी इस बारे में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे और अपनी सारी समस्या बताएंगे।

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम ने किया दूसरा निकाह, कराची में बनाया अपना नया ठिकाना

ट्वीट कर जता रहे गुस्सा-

सभी खिलाड़ी अपने ट्वीट में WFI के प्रेसिडेंट का बॉयकॉट का ट्रेंड चला रहे हैं। ऐसे में बजरंग पुनिया ने ट्वीट कर लिखा, "खिलाड़ी पूरी मेहनत करके देश को मेडल दिलाता है, लेकिन फेडरेशन ने हमें नीचा दिखाने के अलावा कुछ नहीं किया, मनचाहे कायदे कानून लगाकर खिलाड़ियों को प्रताड़ित किया जा रहा है"

महिला पहलवानों ने किया ट्वीट-

सरिता मोर और विनेश फोगाट जैसी महिला पहलवानों ने भी ट्वीट कर फेडरेशन के खिलाफ अपनी बात रखी है। अर्जुन अवार्ड से सम्मानित सरिता मोर ने ट्वीट कर कहा, कि "खिलाड़ी आत्म सम्मान चाहता है, पूरी शिद्दत के साथ ओलंपिक और बड़े खेलों की तैयारी करता है लेकिन अगर फेडरेशन साथ ना दे तो मनोबल टूट जाता है, लेकिन अब हम झुकेंगे नहीं, अपने अधिकारों के लिए लड़ेंगे" इसके अलावा भी कई खिलाड़ियों ने ट्वीट कर अपनी बात रखी है।

Acid Attack: कुत्ते के ऊपर हुई लड़ाई में पड़ोसी ने फेंका तेजाब, जानिए पूरा मामला

ताजा खबरें