World Population Day: विश्व की जनसंख्या 7.8 बिलियन पहुंची, बढ़ती जनसंख्या क्या असर करेगी

भारत देश की बात करें या पूरे विश्व की, हर जगह जनसंख्या लगातार बढ़ती जा रही है। World Population Data की वेबसाइट के अनुसार दुनिया कि जनसंख्या अब तक 7.8 Billion तक पहुंच गयी है।

Updated On: Jul 11, 2020 13:01 IST

Dastak

Photo Source- Pixabay

अजय वर्मा

वर्ल्ड पॉपुलेशन डे यानी विश्व जनसंख्या दिवस प्रत्येक वर्ष ग्यारह जुलाई को मनाया जाता है। भारत देश की बात करें या पूरे विश्व की, हर जगह जनसंख्या लगातार बढ़ती जा रही है। World Population Data की वेबसाइट के अनुसार दुनिया कि जनसंख्या अब तक 7.8 Billion तक पहुंच गयी है। हालांकि महामारी कोरोना वायरस के कारण विश्वभर में 562,889 मौतें अब तक हो चुकी हैं। इसके बावजूद दुनियाभर में जनसंख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

विश्व जनसंख्या दिवस कब से और क्यों मनाया जा रहा है ?

11 जुलाई 1987 से हर साल विश्व जनसंख्या दिवस को संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की गवर्निंग काउंसिल द्वारा स्थापित किया गया था। उस वक्त दुनियाभर की जनसंख्या पांच बिलियन पार कर गयी थी। बढ़ती हुई जनसंख्या को नियंत्रण करने और लोगो को जागरूक करने के प्रति इस दिन को मनाया जाता है। जिसका नारा कंट्रोल पॉपुलेशन सेव नेशन होता है।

क्या जनसंख्या दिवस मनाने का कोई फायदा अब तक हुआ ?

जिस तरह से जनसंख्या की दर लगातार बढ़ती जा रही है। उससे ये साफ हो जाता है की इस दिवस को मनाना अब बेमानी है। क्योंकि इस दिवस के नाम पर कही पर भी कोई बड़े आयोजन या जागरूकता शिविर नहीं दिखाई देते। जबकि प्रेम दिवस यानी वैलंटाइंस डे की बात की जाए तो दुनियाभर में लोग इसे तरह तरह से मनाते है।

यदि ऐसे ही जनसंख्या बढ़ती रही तो ?

जी हाँ, अब सवाल यही आता है की ऐसे ही जनसंख्या बढ़ती रही तो क्या होगा। सबसे पहले बात करें पानी की जिस तरह से जलस्तर कम होता जा रहा है उसी तरह से जनसंख्या बढ़ती जा रही है। जितने लोगो जन्म लेंगे वह पानी का उतना ही प्रयोग करेंगे। इसके बाद प्रदूषण की बात करें तो लोग जायदा होंगे तो वाहन भी जायदा प्रयोग होंगे और इसके अलावा भी कई तरह से प्रदूषण मानवों द्वारा फैलाया जाता है। इसके अलावा रोजगार की भी भारी कमी दुनियाभर में आ सकती है। कुल मिलाकर दुनिया भर में जिस तरह से जनसंख्या बढ़ती जा रही है आने वाले समय में स्तिथि और खराब हो सकती है। इसलिए चाहिए लोग जनसंख्या नियंत्रण के बारे में जागरूक हों। वहीं दुनियाभर में जनसंख्या दिवस को अच्छे स्तर पर मनाया जाये चाहे वह स्कूल - कालेज , सेमीनार के माध्यम से किये जाए या किसी फेस्टिवल के रूप में मनाया जाए।

विकास दुबे की पत्नी ऋचा का फूटा गुस्सा कहा- जरूरत पड़ेगी तो बंदूक भी उठाऊंगी

ताजा खबरें