क्या क्रिकेट में नेपोटिज्म है? जानें इस पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने क्या कहा

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के निधन के बाद बॉलीवुड में Nepotism पर बहस जारी है। वहीं, क्रिकेट में नेपोटिज्म को लेकर भारत के पूर्व खिलाड़ी का कहना है कि भाई-भतीजावाद क्रिकेट (Cricket) में नही है।

Updated On: Jun 27, 2020 17:44 IST

Dastak Web

Photo Source: Social Media

बॉलीवुड के मशहूर एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के निधन के बाद फिल्म उद्योग और बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद (Nepotism) पर एक बार फिर से बहस शुरू हो गई है। वहीं, क्रिकेट में नेपोटिज्म को लेकर लोग सवाल करने लगे हैं। ऐसे में भारत के पूर्व बल्लेबाज आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने शनिवार को कहा कि क्रिकेट (Cricket) में भाई-भतीजावाद अन्य उद्योगों की तुलना में उतना प्रासंगिक नही है। रोहन गावस्कर और अर्जुन तेंदुलकर का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि हर कोई घरेलू सर्किट में अच्छा प्रदर्शन करके अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खुद को बनाता है। उन्होंने यह भी कहा कि खेल में महान व्यक्ति के संबंध होने से किसी को भी उच्चतम स्तर पर मौके नहीं मिलते हैं।

क्रिकेट में नेपोटिज्म नहीं है-

यदि आप बड़ी तस्वीर देखते हैं, तो रोहन गावस्कर सुनील गावस्कर के बेटे थे, अगर किसी को भाई-भतीजावाद (नेपोटिज्म) से गुजरना पड़ता है, तो रोहन को बहुत क्रिकेट खेलना चाहिए था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। जब उन्होंने आखिरकार भारत के लिए खेलना शुरू किया, तो उन्होंने ऐसा इसलिए किया क्योंकि घरेलू क्रिकेट में बंगाल के साथ उनका अच्छा तालमेल था। आकाश चोपड़ा ने अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में कहा।

अर्जुन तेंदुलकर का हाई लेवल पर खेलना अभी बाकी-

उन्होंने आगे कहा कि सुनील गावस्कर ने अपने बेटे को मुंबई से खेलने नहीं दिया। यही बात सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन के बारे में भी कही जा सकती है। उन्हें एक थाल पर कुछ भी नहीं परोसा जा रहा है। उच्चतम स्तर पर, कोई समझौता नहीं है, मुझे नहीं लगता कि क्रिकेट में भाई-भतीजावाद अन्य उद्योगों की तुलना में प्रासंगिक है। अर्जुन तेंदुलकर को भारत के लिए उच्चतम स्तर पर खेलना अभी बाकी है जबकि रोहन गावस्कर ने भारत के लिए सिर्फ 11 वनडे मैच खेले है। बता दें आकाश चोपड़ा ने भारत के लिए 10 टेस्ट खेले, जिसमें उन्होंने 23.00 की औसत से 437 रन बनाए थे।

Delhi University Exam 2020: 1 जुलाई से होने वाली सभी परीक्षाएं इतने दिनों के लिए हुई स्थगित

बॉलीवुड में नेपोटिज्म को लेकर लग रहे आरोप-

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद फिल्म उद्योग में भाई-भतीजावाद को लेकर काफी बहस शुरू हो गई है। इस बहस को ध्यान में रखते हुए, एक प्रशंसक ने आकाश चोपड़ा से पूछा था कि क्या क्रिकेट में भाई-भतीजावाद है या नहीं। जिसके जवाब में उन्होंने कहा नहीं। बता दें सुशांत सिंह राजपूत के जाने के बाद बॉलीवुड के कई बड़े एक्टर डायरेक्ट पर नेपोटिज्म को लेकर आरोप लग रहे हैं। जिनमें आलिया भट्ट, करण जौहर, सलमान खान आदि नाम शामिल हैं। हाल ही में सोनू निगम ने नेपोटिज्म को लेकर टी सीरीज के उपर भी सवाल उठाए थे।

इस राज्य में दुकानों, होटलों, बैंकों को जारी हुई चेतावनी, उल्लंघन करने पर सख्त कार्रवाई

ताजा खबरें