2011 का वर्ल्ड कप फाइनल फिक्स था, पूर्व श्रीलंकाई खेल मंत्री ने किया खुलासा

श्रीलंका के पूर्व खेल मंत्री महिन्दानंद अल्थगामगे (Mahindananda Aluthgamage) ने एक चौंकाने वाला दावा किया है। उन्होंने दावा किया है कि आईसीसी विश्व कप (World Cup 2011) का फाइनल मुकाबला फिक्स था।

Updated On: Jun 18, 2020 20:08 IST

Dastak Web

Photo Source: Google

पूर्व श्रीलंकाई खेल मंत्री महिन्दानंद अल्थगामगे (Mahindananda Aluthgamage) ने एक चौंकाने वाला दावा किया है। उन्होंने दावा किया है कि आईसीसी विश्व कप (World Cup 2011) का फाइनल मुकाबला फिक्स था। बता दें मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में वर्ल्ड कप 2011 का फाइनल भारत और श्रीलंका के बीच खेला गया था। जिसे भारत ने एमएस धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी में इस मुकाबले को 6 विकेट से जीता था और धोनी ने विजयी छक्का मारकर भारत को दूसरा वनडे वर्ल्ड कप दिलाए था। इसी दौरान महिन्दानंद अल्थगामगे श्रीलंका के खेल मंत्री थे और उन्होंने अपने इस बयान की पूरी जिम्मेदारी ली है।

वर्ल्ड कप 2011 फिक्स था, लेकिन नहीं है कोई सबूत-

महिन्दानंद अल्थगामगे ने कहा कि वह अपने देश की प्रतिष्ठा को ध्यान में रखते हुए कोई और खुलासा नहीं किया। लेकिन उन्होंने यह दावा करने के लिए कोई सबूत नहीं दिया है कि विश्व कप 2011 फिक्स था। उन्होंने आगे कहा कि यह एक ऐसा फाइनल था जिसमें श्रीलंका जीत सकती थी। हालांकि, उन्होंने क्रिकेटरों को इस दावे में शामिल नहीं किया। उन्होंने कहा कि मैं जो कहता हूं, मैं उसके साथ खड़ा हूं। यह तब हुआ जब मैं खेल मंत्री था।

फिक्सिंग में क्रिकेटरों की नहीं किया शामिल-

श्रीलंका के समाचार आउटलेट न्यूज़ फर्स्ट को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि वर्ल्ड कप 2011 फिक्स था। मैं एक बहस के लिए आगे आ सकता हूं। लोगों को इसकी चिंता है। हालांकि, मैं इसमें किसी क्रिकेटर को शामिल नहीं करूंगा, लेकिन कुछ लोग थे जो खेल को फिक्स करने में शामिल थे। जब उनसे पूछा गया कि क्या वह इस बयान कि पूरी जिम्मेदारी लेते है, तो श्रीलंका के पूर्व खेल मंत्री ने कहा कि मैं पूरी जिम्मेदारी के साथ बोल रहा हूं। हालांकि, मैं देश की खातिर मैं और कोई विवरण उजागर नहीं करना चाहता। उन्होंने कहा कि 2011 का वर्ल्ड कप फाइनल जीत सकते थे, जो पहले से फिक्स था।

IPL 2020: 26 सितंबर से इन दो शहरों में शुरू हो सकता है इंडियन प्रीमियर लीग

गौतम गंभीर और धोनी ने बनाए 188 रन-

श्रीलंकाई टीम ने निर्धारित 50 ओवरों में बोर्ड पर 6 विकेट के नुक़सान पर 274 रन लगाए, जिसमें महेला जयवर्धने का शानदार शतक शामिल हैं। हालांकि विश्व कप फाइनल के हिसाब से ये स्कोर ठीक था। वहीं जब भारतीय टीम लक्ष्य का पीछा करने के लिए मैदान पर उतरी, तो टीम ने पहले ही ओवर में विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग और कुछ ही देर के बाद महान सचिन तेंदुलकर को खो दिया। जिसके बाद भारतीय टीम दबाव में आ गई। हालांकि, भारत ने गौतम गंभीर (97 रन) और एमएम धोनी (91 रन) की महत्पूर्ण पारी की बदौलत फाइनल को 6 विकेट से जीत लिया।

Google Chrome के जरिये आप पर रखी जा रही नजर, नया बग आया सामने

ताजा खबरें