IND vs AUS Analysis: जानें सेमीफाइनल में भारतीय टीम की हार की वजह, सातवीं बार टी-20 वर्ल्डकप में पहुंचा आस्ट्रेलिया

टी-20 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिली हार के साथ ही भारत का फाइनल में जाने का सपना भी चकनाचूर हो गया। खिलाड़ियों की इन गलतियों की वजह से भारत हुआ टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल से बाहर।

Updated On: Feb 24, 2023 12:54 IST

Dastak Web Team

Photo source - Google

स्नेहा मिश्रा 

टी-20 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिली हार के साथ ही भारत का फाइनल में जाने का सपना भी टूट गया है। हालांकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब भारत आस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच हारा हो। भारत को सिर्फ 5 रनों से हार का सामना करना पड़ा।

सातवीं बार टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची ऑस्ट्रेलियाई टीम :

भारत की इस हार के साथ ही ऑस्ट्रेलिया की टीम सातवीं बार टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंच चुकी है। मैच की शुरुआत से पहले ही भारत के सामने कई चुनौतियां शुरू हो चुकी थी। हालांकि मैच की शुरुआत में भारतीय महिला टीम जब मैदान में उतरी तो खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया। एक समय तक तो ऐसा लग रहा था कि टीम इंडिया सेमीफाइनल के इस मैच में जीत हासिल कर ही लेगी, लेकिन कप्तान हरमनप्रीत कौर और ऋचा घोष के आउट होते ही इंडियन टीम लड़खड़ा गई और 5 रनों से हारकर फाइनल से बाहर हो गई।

T20 World Cup Semifinal : ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सेमीफाइनल में जीत के लिए भारतीय टीम को करना होगा काफी सुधार

मैच से पहले ही कमजोर हुई इंडियन टीम :

सेमीफाइनल मैच से पहले ही भारतीय टीम कमजोर पड़ गई थी। पूजा वस्त्राकर बीमार होने के कारण इस मैच का हिस्सा नहीं बन पाईं। तो वहीं कप्तान हरमनप्रीत कौर, श्रुति मंधाना और राधा यादव जैसी दिग्गज खिलाड़ी भी फिट नहीं थे। पूजा वस्त्राकर की जगह स्नेहा राणा को मैच में रखा गया। जिन्होंने 4 ओवर में 33 रनों को गंवा दिया। वहीं राधा और मंधाना ने भी कुछ खास कमाल नहीं दिखाया। खिलाड़ियों में फिटनेस की कमी के कारण आत्मविश्वास भी कम दिखाई दे रहा था। यही कारण है कि भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा।

T20 international world cup : भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान ने रचा इतिहास, रोहित शर्मा को भी छोड़ा पीछे

भारत की ख़राब फिल्डिंग भी बनी हार की वजह :

रेणुका सिंह भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सबसे सफल गेंदबाज मानी जाती है। इसीलिए उन से लोगों की उम्मीदें ज्यादा थी। लेकिन उन्होंने भी लोगों की उम्मीदों पर पानी फेर दिया और लगातार चार ओवर में बिना विकेट लिए 41 रनों को लुटा दिया। यही वजह थी कि मैच के आखिर तक इन्होंने ऑस्ट्रेलिया को 172 रन बनाने दिए। भारत की हार की एक वजह इनकी खराब फिल्डिंग भी थी। खराब फील्डिंग के दौरान ही भारत ने 10 से 12 रनों को गंवाते हुए भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हार-जीत का अंतर तय कर दिया था। जो कि भारत की हार के लिए काफी था।

ताजा खबरें