IPL में अगले साल की बजाय 2022 में क्यों खेलेंगी दो नई टीमें?

बीसीसीआई ने दो नई टीमों को अगले साल 2021 में नहीं बल्कि 2022 में खिलाने का फैसला किया है। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि आखिर क्यों दो नई टीमों को अगले साल नहीं खेलने दिया जाएगा। 

Updated On: Dec 26, 2020 13:55 IST

Dastak Online

Photo Source: Rajasthan Royals

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) ने आईपीएल (IPL) में दो नई फ्रेंचाइजियों को शामिल करने का ऐलान कर दिया है। बीसीसीआई ने ये ऐलान अहमदाबाद में हाल ही में हुई एनुअल जनरल मीटिंग के दौरान किया था। इस दौरान बीसीसीआई ने दो नई टीमों को अगले साल 2021 में नहीं बल्कि 2022 में खिलाने का फैसला किया है। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि आखिर क्यों दो नई टीमों को अगले साल नहीं खेलने दिया जाएगा।

2022 में इस वजह से खेलेंगी टीमें-

आईपीएल में दो नई टीमों का 2022 में खेलने के कारण बताये जा रहे हैं। दरअसल, इन दो नई टीमों को लॉन्च करने के लिए काफी कम समय है। और इन दोनों नई टीमों के लिए नई प्लेयर ऑक्शन भी होनी है, जिसमें काफी टाइम लगता है। इस वजह से टीम और खिलाड़ी बढ़ने से भी काफी काम का दबाव बढ़ गया है, जोकि कम समय में पूरा नहीं हो सकेगा। इसी वजह से 2021 में ये दोनों नई टीम नहीं खेल पाएंगी।

इसके अलावा, आईपीएल में दो नई टीम शामिल होने से मैच की संख्या भी बढ़ जाएगी और सभी टीमों को आपस में खिलाने के लिए पहले से कई ज्यादा समय भी लगेगा, जिसे भी सही तरीके से शेड्यूल किया जाएगा। इस टूर्नामेंट को खेलने में करीब दो महीने का समय लगता है तो ये बढ़कर ढाई महिना भी हो सकती है।

JKSSB Accounts Assistant Result 2020: बोर्ड ने जारी किया रिजल्ट, यहां जल्दी करें चेक

आईपीएल का स्टार स्पोर्ट्स से हो रहा कॉन्ट्रैक्ट खत्म-

आईपीएल में नई दो टीमों को 2022 में खिलाने का एक कारण ये भी माना जा रहा है कि अगले साल आईपीएल का स्टार स्पोर्ट्स से कॉन्ट्रैक्ट भी खत्म होने जा रहा है। और इसी वजह से भी आईपीएल में नई टीमों का खेलना 2022 में ही संभव होगा। क्योंकि आईपीएल का स्टार स्पोर्ट्स से जो कॉन्ट्रैक्ट है, उसके मुताबिक टूर्नामेंट में 8 टीम और 60 मैच खेलने का है। वहीं, 10 टीम होने का मतलब है 94 मैच खेलना। लेकिन इसमें 74 मैच से अधिक नहीं खेले जा सकते हैं।

कोरोना वैक्सीन लगवाने से दूसरी बीमारियों को दे रहे न्यौता?

 

 

ताजा खबरें