सोशल मीडिया पर इन ऐप्स के जरिए महिलाओं को खरीदने-बेचने का चल रहा ऑनलाइन बाजार

Updated On: Nov 5, 2019 12:27 IST

Jyoti Chaudhary

Photo : Twitter

आप सभी अपनी जरूरतों की चीजों को खरीदने के लिए किसी न किसी ऑनलाइन स्टोर या ऐप का इस्तेमाल करते ही होंगे। लेकिन अब महिलाओं को भी एक सामान की तरह ऑनलाइन बेचा जा रहा है। यह बेहद ही चौंका देने वाली बात है कि ऑनलाइन बाजार में एक सामान की तरह महिलाएं भी बिक रही है। इंस्टाग्राम समेत गूगल और ऐपल स्टोर पर कुछ ऐसी ऐप चल रही हैं जो गुलामों का ऑनलाइन बाजार चला रही हैं।

बीबीसी न्यूज के मुताबिक, कुवैत में कुछ ऐप्स और सबसे अधिक लोकप्रिय 4सेल ऐप के जरिए फ़ेसबुक और इंस्टाग्राम पर महिलाओं को बेचा व खरीदा जा रहा है। वहीं, इन प्लेटफ़ॉर्म पर नौकरानी जैसे शब्दों के साथ हैशटैग का इस्तेमाल कर महिलाओं की ख़रीद-फ़रोख्त का काला धंधा अपने पैर फैला चुका है। एक अकेला कुवैत ही नहीं बल्कि सऊदी अरब में भी एक फेमस कमोडिटी ऐप हाराज के जरिए सैकड़ों महिलाओं को बेचा जा रहा है। इस मामले के खुलासे के बाद भी सऊदी कमोडिटी ऐप, हरज की ओर से कोई टिप्पणी नहीं की गई है।

इतना ही नहीं, इस ऐप्स पर महिलाओं की फोटो के साथ-साथ उनके दाम भी तय किए जाते है और उसी हिसाब से महिलाओं का सौदा किया जाता है। हालांकि, इस मामले के सामने आने के बाद 4सेल ऐप ने डोमेस्टिक वर्कर सेक्शन को हटा दिया गया है। वहीं, फ़ेसबुक द्वारा भी "#maidsfortransfer" हैशटैग को पूरी तरह से बैन कर दिया गया है। साथ ही, पहले से डाली गई इस तरह की सभी सामग्रियों को हटा दिया गया है।

वकीलों को लगता है कि वो कानून से ऊपर हैं और सुनवाई उन्हें ही करवानी है

इस रिपोर्ट की माने तो इस काले बाजार को चलाने वाला और कोई नहीं बल्कि एक महिला है। इस पूरे नेटवर्क को यह महिला अलग-अलग ऐप्स के जरिए चला रही थी, जिसकी अभी तक जांच चल रही है। वहीं, घटना की जानकारी मिलने के बाद कुवैत प्रशासन ने तुरंत इन विज्ञापनों को हटाने के आदेश जारी कर दिए हैं। इसी के साथ ऐप बनाने वाली कंपनी से कानूनी आश्वासन लिया गया है कि वह इस तरह की किसी भी गतिविधियों में कभी भी शामिल नहीं होंगे।

प्लास्टिक बैग ही नहीं बल्कि पेपर और सूती बैग्स भी है खतरनाक, जानें कैसे

ताजा खबरें