गेम खेलने वालों पर मंडराया बड़ा खतरा, एक लाख से अधिक लोगों की लीक हुई निजी जानकारी

गेमिंग हार्डवेयर विक्रेता रेजर द्वारा दुर्घटनावश एक लाख से अधिक गेमर्स की व्यक्तिगत जानकारी लीक हो गई है, जो हैकर्स के द्वारा शोषण के लिए लगभग एक महीने से उपलब्ध था।

Updated On: Sep 15, 2020 13:34 IST

Dastak Online

Photo Source: Wikimedia Commons

आईएएनएस| गेमिंग हार्डवेयर विक्रेता रेजर द्वारा दुर्घटनावश एक लाख से अधिक गेमर्स की व्यक्तिगत जानकारी लीक हो गई है, जो हैकर्स के द्वारा शोषण के लिए लगभग एक महीने से उपलब्ध था। सुरक्षा शोधकर्ता वोलिडिमिर डियाचेंको की नजर में पहली बार यह बात सामने आई कि 18 अगस्त को रेजर के वेबसाइट पर ग्राहकों की डेटा का सार्वजनिक तौर पर खुलासा किया गया था, हालांकि ऐसा सर्वर मिस कॉन्फिगरेशन के चलते हुआ था।

लीक हुए इस डेटा में पूरा नाम, ईमेल, फोन नंबर, कस्टमर इंटरनल आईडी, ऑर्डर नंबर, ऑर्डर डिटेल्स, बिलिंग और शिपिंग एड्रेस सभी शामिल रहे थे।

इस ऑनलाइन मिस कॉन्फिगरेशन के बारे में पता लगने के तुरंत बाद डियाचेंको ने तीन हफ्ते के दरमियान रेजर संग कई बार संपर्क करने की कोशिश की।

लिंक्डइन पर अपने एक पोस्ट में डियाचेंको ने कहा, "मेरा संदेश कंपनी के अंदर सही लोगों तक कभी नहीं पहुंचा और सार्वजनिक तौर पर इसकी पहुंच न हो पाए, यह सुनिश्चित कराने तक गैर-तकनीकी सहायता प्रबंधकों द्वारा तीन सप्ताह से अधिक समय तक निरंतर संपर्क साधा गया।"

रेजर एक वैश्विक गेमिंग हार्डवेयर निर्माण कंपनी, एस्पोर्ट्स और वित्तीय सेवा प्रदाता है।

अपने एक बयान में, कंपनी ने सर्वर मिस कॉन्फिगरेशन होने की बात को स्वीकारा है।

Redmi 9i भारत में लॉन्च, जानें इसके स्पेसिफिकेशन और कीमत

कंपनी ने कहा, "हमें वलोडिमिर द्वारा एक सर्वर मिस कॉन्फिगरेशन के बारे में अवगत कराया गया था, जिसके माध्यम से संभवत: ऑर्डर डिटेल्स, ग्राहक और शिपिंग जानकारी से संबंधित जानकारियों का खुलासा हुआ है। हालांकि क्रेडिट कार्ड नंबर या पासवर्ड जैसे किसी अन्य जरूरी डेटा का खुलासा इसमें नहीं हुआ है।"

कंपनी ने आगे कहा, "हालांकि आंकड़ों के सार्वजनिक होने से पहले ही सर्वर मिस कॉन्फिगरेशन की समस्या को 9 सितंबर ठीक कर लिया गया।"

भारत में अब तक इतने लोगों ने कोरोना से गंवाई अपनी जान

ताजा खबरें