VLC Media Player भारत में कर दिया गया है बैन, जानें इसके पीछे के कारण

वीएलसी मीडिया प्लेयर (VLC Media Player) जो भारत में बैन कर दिया गया है, वो इस देश में काफी लोकप्रिय रहा है। कंपनी ने भी अब भारत में इसके बैन की पुष्टी कर दी है।

Updated On: Aug 14, 2022 19:15 IST

Dastak

Photo Source- Google

वीएलसी मीडिया प्लेयर (VLC Media Player) जो भारत में बैन कर दिया गया है, वो इस देश में काफी लोकप्रिय रहा है। कंपनी ने भी अब भारत में इसके बैन की पुष्टी कर दी है। वीडियोलैन (VideoLan) के अध्यक्ष ने प्रतिबंध की खबरों की पुष्टी की है और कहा है कि ये वीडियो प्लेयर अभी कुछ आईएसपी पर काम कर रहा है लेकिन अन्यों पर काम नहीं कर रहा।

इस खबर पर अब कई सारे सवाल उठ रहे हैं, जैसे भारत में वीएलसी मीडिया प्लेयर की वेबसाइट और उसका डाउनलोड लिंक एकदम से ही ब्लॉक क्यों हो गया। इस मामले पर भारत सरकार और कंपनी दोनों क्या कह रहे हैं ये हम नीचे जानेंगे।

भारत में बैन क्यों हो गया वीएलसी मीडिया प्लेयर-

वीडियोलैन जो वीएलसी मीडिया प्लेयर का डेवलपर है ने इसके बैन की अधिकारिक पुष्टी की है जिसपर कम ही लोगों ने ध्यान दिया है। मीडियानामा ने करीब दो माह पहले इस बैन के बारे में खबर दी थी। अभी इस बैन के पीछे का असल अधिकारिक कारण का पता नहीं चल पाया है।

हालांकि कुछ रिपोर्टस में दावा किया गया है कि वीएलसी मीडिया प्लेयर को देश में इसलिए प्रतिबंधित कर दिया गया है क्योंकि इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल चीन समर्थित हैकिंग समूह सिकाडा द्वारा साइबर हमलों के लिए किया गया था।

सुरक्षा क्षेत्र के विशेषज्ञों ने कुछ महीनों पहले ये पाया था कि सिकाडा लंबे समय से साइबर हमले करने के लिए वीएलसी मीडिया प्लेयर का इस्तेमाल कर रहा था। वो इसमें अपने साइबर हमले करने के लिए एक मैलिसिओयस मैलवेयर लोडर को डाल डाल रहा था।

वीएलसी मीडिया प्लेयर के निर्माण करने वाले वीडियोलेन का क्या कहना है?

वीडियोलेन ने पुष्टी करते हुए कहा है कि उनके इस मीडिया प्लेयर को भारत में 13 फरवरी को ही बैन कर दिया गया था। कंपनी ने इस बैन के पीछे कोई कारण नहीं बताया है। हालांकि एक ट्वीट में वीडियोलेन ने भारत में लोगों से मदद मांगी थी क्योंकि कंपनी को नहीं पता था कि उनका मीडिया प्लेयर भारत में अचानक से बैन क्यों कर दिया गया है।

भारत सरकार का इस बैन पर क्या कहना है?

भारत सरकार ने इस बैन के पीछे अभी तक कोई अधिकारिक कारण मीडिया को नहीं बताया है। लेकिन मीडिया प्लेयर की वेबसाइट पर लिखा आता है कि "आईटी अधिनियम, 2000 के तहत इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के आदेश के अनुसार वेबसाइट को अवरुद्ध कर दिया गया है"। यह अधिनियम भारत में साइबर अपराध और इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स से संबंधित प्राथमिक कानून से संबंधित है।

क्या वीएलसी मीडिया प्लेयर अब भारत में नहीं चल पा रहा?

वीडियोलैन के अध्यक्ष ने खुलासा किया है कि मीडिया प्लेयर कुछ आईएसपी पर काम कर रहा है और कुछ के लिए नहीं। कंपनी के अध्यक्ष ने हाल ही में दिए एक बयान में कहा है कि हमें कुछ महीनों से भारत में बैन कर दिया गया है। हम नहीं जानते कि ऐसा क्यों किया गया है। मेरे अनुसार हमें 13 फरवरी 2022 से बैन कर दिया गया है।

अमेज़न अब ड्रोन द्वारा ग्राहकों के घर देगा डिलीवरी, 2.2 किलो तक का सामान ले जाया सकेगा

कंपनी के अध्यक्ष कहते हैं कि हमने इस सबंध में भारत सरकार से इसके पीछे का कारण जानना चाहा है लेकिन हमें उनकी तरफ से कुछ नहीं बताया गया है। हो सकता है कि हमने सही माध्यम से नहीं पूछा है, काश मुझे पता चल सके कि ये जानकारी सरकार से मैं कैसे पूछ पाऊं। इसमें सबसे अजीब बात ये है कि कुछ आईएसपी पर ये ब्लॉक हो गया है और कुछ पर नहीं। क्या कु आईएसपी सरकार की नहीं सुन रही हैं?

Redmi K50i 5G इसी महीने भारत आ रहा है, जानें इसकी अनुमानित कीमत

ताजा खबरें