Whatsapp क्यों रहा डाउन? जानें इसके पीछे के कारण

Whatsapp दिवाली के एक दिन बाद मंगलवार को एक घंटे से अधिक देर तक बंद रहा। इस दौरान यूजर कोई भी मैसेज किसी को भेज नहीं पा रहे थे, आईए जानते हैं वाट्सएप्प डाउन क्यों रहा?

Updated On: Oct 25, 2022 18:26 IST

Dastak

Photo Source- Pixabay

Whatsapp दिवाली के एक दिन बाद मंगलवार को एक घंटे से अधिक देर तक बंद रहा। इस दौरान यूजर कोई भी मैसेज न तो किसी को भेज पा रहे थे और न ही किसी का मैसेज उन्हें व्हाट्सएप्प के माध्यम से मिल पा रहा था। पर्सनल और ग्रुप चैट दोनों ही कुछ समय के लिए प्रभावित रही।

व्हाट्सएप्प के डाउन होने पर कंपनी ने क्या कहा?

व्हाट्सएप की मालिकाना कंपनी मीटा के एक प्रवक्ता ने कहा कि हमें जानकारी है कि कुछ लोगों को अभी संदेश भेजने और प्राप्त करने में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। हम इसको बाहल करने पर काम कर रहे हैं, ताकि जल्द से जल्द इसकी सेवाओं को का लाभ सब उठा पाएं।

क्या व्हाट्सएप्प सिर्फ भारत में ही डाउन था?

वाट्सएप्प का ये आउटेज काफी बड़ा लग रहा था, हालांकि वाट्सएप्प ने अधिकारिक तौर पर इसपर कुछ भी नहीं कहा लेकिन ट्वीटर पर इस दौरान #WhatsAppDown का हैशटैग ट्रेंड कर रहा था, इसपर लिखने वालों में न सिर्फ भारतीय थे बल्कि इसके अलावा स्पेनिश, इंडोनेशिया और केन्या आदि क्षेत्रों के यूजरों के भी ट्वीट आ रहे थे, जिन्हें वाट्सएप्प के डाउन होने की शिकायत थी।

व्हाट्सएप्प में ऐसी क्या समस्या आ गई थी?

समस्या के बारे में वाट्सएप्प ने कोई जानकारी साझा नहीं की है, लेकिन अक्टूबर 2021 में भी मेटा कंपनी द्वारा चलाए जाने वाले तीनों प्लेटफॉर्म - फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप्प डीएनएस (DNS) फेलियर के कारण लगभग छह घंटे डाउन रहे थे। डीएनएस यानी डोमेन नेम सिस्टम वो सर्विस है जो किसी भी वेबसाइट के नाम को जिसे आप पढ़ पा रहे हैं जैसे dastakindia.com को एक आईपी एड्रेस में परिवर्तित करती है।

अगर डीएनएस अपना काम सही से नहीं कर पा रहा है तो आपका डिवाइस उस सर्वर से कनेक्ट नहीं कर पाएगा जिसके द्वारा होस्ट की जा रही वेबसाइट पर आप जाना चाह रहे हैं। लेकिन इस मामले में समस्या बीजीपी राउटिंग से संबधित है। बीजीपी से यहां मतलब- बॉर्डर गेटवे प्रोटोकॉल से है। ये वो सिसटम होता है जो एक नेटवर्क की मदद दूसरे नेटवर्क तक जाने के लिए बेस्ट रुट चुनने में करता है।

मार्च 2021 में भी व्हाट्सएप्प  करीब 45 मिनट के लिए डाउन रहा था, तब मीटा ने कहा था कि इसके पीछे तकनीकी खामी है, लोगों को उस वक्त फेसबुक की सेवा में भी कुछ दिक्कत का सामना करना पड़ा था, लेकिन कंपनी ने तब भी कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया था।

2020 में चार बड़े व्हाट्सएप्प आउटेज हुए थे, जिनमें से सबसे बडा जनवरी में हुआ था, जो लगभग तीन घंटों तक रहा था। इसके बाद एक अप्रैल में हुआ, उसके बाद एक-दो घंटे का जुलाई में और अगस्त में भी कुछ समय के लिए ये रहा।

जुलाई 2019 में फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप्प की सर्विसिज में पूरे विश्वभर में डाउन देखने को मिला था। इस दौरान लोगों ने शिकायत की था कि न तो इन सेवाओं पर पोस्ट कर पा रहे हैं और न ही अपनी फीड या फोटो देख पा रहे हैं।

जरुरी नहीं सभी यूजर्स के लिए डाउन हो व्हाट्सएप्प-

व्हाट्सएप्प पर दो बिलियन से अधिक यूजर हैं और फेसबुक पर इनकी संख्या तीन बिलियन से अधिक है। इस बात की अधिक संभावना नहीं होती कि विश्व में सभी यूजर्स के लिए ये सेवाएं बाधित हों। क्योंकि ये सर्विस आपको दुनिया भर के बहुत सारे डेटा केंद्रो से होस्ट कर दी जाती है, जिनकी अपनी अलग से सिक्योरिटी सोइल भी होती है।

डाक्टरों के अनुसार दिल्ली में प्रदूषण के कारण सांस लेने में तकलीफ के साथ आंखों में हो रही हैं ये दिक्कत

अगर प्रोडेक्ट में कोई बदलाव होता है तो हो सकता है कि वो सभी यूजरों को प्रभावित करे। लेकिन यूजर बेस की बात करें तो इसके प्रभाव इतने व्यापक नहीं होते कि वो व्हाट्सएप्प के सभी यूजरों को प्रभावित करे, ये एक क्षेत्र के डेटा सेंटर से संबधित भी हो सकते हैं।

व्हाट्सएप्प बार बार डाउन क्यों हो रहा है?

फेसबुक और व्हाट्सएप्प के जब यूजरबेस की बात करें तो ये कितना है और किस आधार पर ऑनलाईन आता है इस बारे में कंपनी को पता लगाना भारी होता है। क्योंकि यूजरबेस काफी बड़ा है और कई बार बहुत अधिक यूजर एक साथ सेवा का उपयोग बेहद अधिक कर देते हैं। ऐसे में कंपनियां अभी इन्हें सुचारु रुप से मैनेज करना सीख ही रही हैं। इसका एक दूसरा कारण ये भी है कि कंपनिया इतने बड़े यूजर बेस को संभालने में थर्ड पार्टी सर्विसिज का इस्तेमाल रही हैं। ऐसे में कोई भी छोटी सी दिक्कत आने पर इसका सामना लाखों यूजर्स को करना पड़ जाता है।

दिवाली पर एसबीआई ने दिया खाताधारकों को बड़ा तोहफा, एफडी ब्याज दरों में की बढ़ोतरी

ताजा खबरें