दुनिया नेशनल

फेसबुक डाटा लीक मामले में जकरबर्ग ने यूजर्स से मांगी माफी

मार्क जकरबर्ग ने कैंब्रिज एनालिटिका डाटा लीक मामले में फेसबुक युजर्स से माफी मांगी है। सीएनएन पर एक साक्षात्कार में उन्होंने कहा, “ये वास्तव में विश्वास टूटने जैसा है और उन्हें खेद है कि ये हुआ। उन्होंने कहा कि ये उनकी जिम्मेदारी है कि ऐसा दोबारा न होने पाए। जुकरबर्ग का माफीनामे ये दर्शाता है कि कैसे फेसबुक ने तीसरे पक्ष के डेवलपर्स को उसके युजर्स का डाटा इस्तेमाल करने की अनुमती दे दी थी। इस बारे में विवाद होने और मामले के अमेरिकी संसद में उठने के बाद उन्होंने माफी मांगी।

दरअसल पांच करोड फेसबुक के यूजर्स का पर्सनल डाटा ब्रिटिश कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका द्वारा अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के समय अनुचित तरीके से इस्तेमाल किया गया था। इस मामले में जकरबर्ग ने कहा कि वे अमेरिकी कांग्रेस के सामने इसका जवाब देने के लिए भी तैयार हैं।

सूचना प्रौद्योगिकी और कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने बुधवार को कहा था कि सरकार प्रेस, भाषण और अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा समर्थन करती है। साथ ही वह सोशल मीडिया पर विचारों के मुक्त आदान प्रदान का भी समर्थन करती है। प्रसाद ने कहा कि फेसबुक सहित कोई भी सोशल मीडिया साइट यदि अनुचित तरीके से देश की चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करने का प्रयास करती है, तो उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

प्रसाद ने चेतावनी देते हुए कहा था कि मार्क जुकरबर्ग आप बेहतर तरीके से जान लें, हम भारत में एफबी प्रोफाइल का स्वागत करते हैं, लेकिन एफबी प्रणाली के जरिए यदि भारतीयों के किसी आंकड़े की चोरी की जाती है तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। आईटी कानून में हमारे पास काफी अधिकार हैं, हम इनका इस्तेमाल करेंगे। आपको भारत में समन भी किया जा सकता है।

मार्क जकरबर्ग ने अपने फेसबुक पोस्टा में लिख है कि फेसबुक की शुरुआत मैंने ही की थी और इस प्लैटफॉर्म पर जो भी होता है उसके लिए अंत में मैं ही जिम्मेदार हूं। यूजर्स के फेसबुक डाटा के लीक होने को लेकर मैं काफी गंभीर हूं। उन्होंने आगे लिखा है कि अब हमारी कंपनी को बुहत कुछ करने की जरूरत है। हमने गलती की है। हम जरूरी कदम उठाएंगे और हम ऐसा कर भी रहे हैं।

उन्होंने कहा कि फेसबुक यूजर्स से जुड़ी किसी भी तरह की जानकारी देने से पहले हम ऐप्पस की जांच करेंगे। अगर किसी ऐप की गतिविधि संदेहस्पद होती है तो उसका ऑडिट कराया जाएगा। अगर कोई डेवलपर ऑडिट के लिए तैयार नहीं होगा तो हम ऐसे ऐप को फेसबुक प्लैाटफॉर्म उपलब्धक ही नहीं कराएंगे। जकरबर्ग ने कहा कि अगले महीने से फेसबुक अपने यूजर्स को न्यूज फीड में सबसे ऊपर टूल प्रदर्शित करेगा। इसके जरिए फेसबुक यूजर्स ऐप को दी गई परमिशन कैंसल कर सकते हैं।

dastak
Dastak India Editorial Team
http://dastakindia.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *