ram mandir
नेशनल होम

राम मंदिर के लिए देश के चार शहरों में ‘धर्म सभा’ आयोजित करेगी वीएचपी

वीएचपी के उपाध्यक्ष चंपत राय ने बुधवार को कहा कि वे जल्द ही चार भारतीय शहरों में धर्म सभा​​आयोजित करेंगे और देश भर में 5000 स्थानों पर तीन घंटे लंबी प्रार्थना सभाएं आयोजित करेंगे ताकि यह प्रदर्शित किया जा सके कि “125 करोड़ हिंदुओं की भावनाएं प्राथमिक हैं”। जाहिर है वीएचपी राम मंदिर मुद्दे पर सरकार दबाव बनाकर रखना चाहती है।

 

अयोध्या में धर्म सभा की तैयारियों का जयाजा ले रहे राय ने मीडिया से कहा “धर्म सभाएं 25 नवंबर को अयोध्या, नागपुर और बेंगलुरू में आयोजित की जाएगीं, जबकि चौथी सभा 9 दिसंबर को नई दिल्ली में आयोजित की जाएगी। प्रार्थना सभाएं पूरे देश में 18 दिसंबर को 5,000 तहसील और ब्लॉकों पर आयोजित की जाएंगी।

 

14 नवंबर से चलेगी Ramayana Express, 16 दिन का होगा टूर पैकेज

राय ने कहा ये सभी राम जन्म भूमी को वापस प्राप्त करने के लिए है… अयोध्या में हिंदू समाज 500 साल से अयोध्या की जन्म भूमी को प्राप्त करने के लिए संघर्ष कर रहा है। राय आगे कहते हैं ये दुर्भाग्यपूरण है कि सुप्रीम कोर्ट को इस महत्वपूर्ण केस की फाईलें खोलने में छह वर्ष का समय लग गया। सुनवाई के दौरान इस मुद्दे को गंभीरता से नहीं लिया गया,फालतू की बहसों में महीनों बर्बाद कर दिए गए। उन्होंने कहा 125 करोड़ हिंदूओं की भावनाएं प्राथमिकता में आनी चाहिए।

 

वीएचपी उपाध्यक्ष ने कांग्रेस नेता और वकील कपिल सिब्बल और वकील राजीव धवन पर मामले में देरी का आरोप लगाया और कहा कि धर्म सभा​​में वे सिब्बल से भी पूछेंगे कि किस आधार पर उन्होंने सुनवाई के 2019 लोकसभा चुनाव के बाद किए जाने का अनुरोध किया था। क्या उन्होंने यह गलती नहीं की है? इस मामले का हल इसी साल निकल जाना चाहिए था।

ओवैसी बोले एक लाख गायों में से एक गाय मुझे भी दे दे बीजेपी

उन्होंने कहा, “सरकार को अदालत को ये बताना है कि देश की क्या प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि उनकी मांग स्पष्ट है अगर एक सैंवेधानिक निकाय संकोच में है तो संसद को कानून बनाने के लिए आगे आना चाहिए। उन्होंने कहा लोगों को भ्रम न हो रहा हो कि ये विषय खत्म हो रहा है, उन्हें विश्वास दिला दें कि ये विषय अभी जिंदा है।

 

वहीं मंगलवार को यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौये ने कहा कि मंदिर भव्य बनाएंगे, लेकिन तारीख राहुल गांधी बताएंगे। उन्होंने कहा कि जहां भगवान राम का जन्म हुआ वहां बाबर के नाम पर कोई इमारत या मेमोरियल नहीं बनाया जा सकता।

dastak
Dastak India Editorial Team
http://dastakindia.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *