gautam gambhir retirement
खेल नेशनल होम

मैदान पर हार न मानने वाले गंभीर ने चयनकर्ताओं से मानी हार, लेंगे सन्यास

टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज और विरेंद्र सहवाग के जोडीदार रहे गौतम गंभीर ने आखिर में हार मानकर सन्यास लेने का फैसला ले ही लिया है। मैदान पर कभी हार न मानने वाले गंभीर चयनकर्ताओं से हार मान गए। बीच में फोर्म से आउट होने के चलते गंभीर को टीम इंडिया से बहार कर दिया गया था लेकिन उसके बाद गंभीर ने वापसी की उन्होंने आईपीएल में केकेआर के लिए खूब रन बनाए रणजी की दस पारियों में 632 रन बनाने के बावजूद चयनकर्ताओं की नजर गंभीर पर नहीं पडी।

गंभीर के सन्यास में अच्छी बात ये होगी की वो मैदान से खेलते हुए रिटायर होंगे, वो भी अपने घरेलु मैदान फिरोजशाह कोटला  से जहां से उन्होंने अपने करियर की शुरुआत की थी। भले ही वो रणजी खेलते हुए रिटायर हो रहे हों लेकिन क्रिकेट मैच खेलकर मैदान को अलविदा कहेंगे।

गंभीर के जोडीदार और भारतीय टीम के तूफानी बल्लेबाज रहे विरेंद्र सहवाग भी सालों से टीम इंडिया में वापसी की आस लगाए बैठे थे लेकिन चयनकर्ताओं ने उनकी भी उम्मीद पर पानी फेर दिया था। आखिर में सहवाग ने क्रिकेट से सन्यास लेने का फैसला कर लिया लेकिन सहवाग चाहते थे कि वो मैदान से खेलते हुए सन्यास लें। लेकिन बीसीसीआई ने उनकी ये इच्छा भी पूरी नहीं की थी। गंभीर रणजी खेलते हुए मैदान से सन्यास लेंगे। टीम इंडिया के बडे प्लेयरों का इस तरह सन्यास लेना दु:खद है।

अखलाख केस की जांच कर रहे थे इसलिए भीड ने मेरे भाई को मारा

आपको बता दें कि गंभीर ने क्रिकेट के तीनों प्रारुपों में अंतराष्ट्रीय स्तर पर 10,000 से अधिक रन बनाए हैं। दिल्ली के फिरोजशाह कोटला में 6 दिसंबर से दिल्ली और आंध्रप्रदेश के बीच होने वाला रणजी ट्रॉफी मैच गंभीर के करिअर का अंतिम मैच होगा। मैदान पर जैनटलमैन क्रिकेटर के रुप में जाने जाने वाले गौतम गंभीर ने ट्वीटर अपने रिटायर होने की घोषणा की। गंभीर ने एक वीडियो भी पोस्ट कर अपनी कहानी बयां की और फैंन्स को धन्यवाद बोला

dastak
Dastak India Editorial Team
http://dastakindia.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *