विचार: देश की आम महिला अपना सम्मान कैसे बचाए जब एक मुख्यमंत्री न बचा पाए!

0
Shrad yadav comment on vasundhra raje
Photo Source- Google

अजय चौधरी

शरद यादव ने वसुंधरा राजे को थकी और मोटी कहकर आराम देने की बात कही है, राजनीति में ये कोई नई बात नहीं है, पहले से होता आया है। महिलाओं पर ऐसी टिप्पणी करना शान समझा जाता है, इसपर ठहाके भी लगाए गए और लगाए जाते रहे हैं।

हाल ही में चली मीटू कैंपन का देश में काफी असर देखने को मिला लेकिन फिर भी इसका कोई असर राजनीति को छू भी नहीं पाया। अकबर का जो मामला सामने आया वो राजनीति से नहीं मीडिया से ही जुडा हुआ था क्योंकि अकबर राजनेता बाद में बने।

ये दूरियां क्या कहती हैं, खुद पुलिस मांग रही इंसाफ !

लगता यही है कि राजनीति में आगे आई महिलाओं को ये सब सहने की अब आदत पड चुकी है। वसुंधरा राजे मुख्यमंत्री है, फिर भी मुझे नहीं लगता की वो इस मसले पर कानूनी रुप से कुछ खास कर पाएंगी या कुछ करने की इच्छा भी अपने मन में ला पाएंगी भले ही वो इसका राजनीतिक फायदा पार्टी सहित उठाने की कोशिश करें।

Release हुआ Shirley Setia का Most Awaiting Song Naiyo Jana

इस पर कुछ हुआ तो अच्छी बात है लेकिन जब इसपर कुछ नहीं होगा तब आप अंदाजा लगाना कि जब देश की एक आम महिला पर कोई छीटांकशी करता है तो वो ऐसी स्थिती में क्या करे जब एक मुख्यमंत्री कुछ न कर पाए।

“ये लेखक के निजी विचार हैं। इस आलेख में सभी सूचनाएं लेखक द्वारा दी गई हैं, जिन्हें ज्यों की त्यों प्रस्तुत किया गया हैं। इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति दस्तक इंडिया उत्तरदायी नहीं है।”

Leave a Reply