हार के डर से एक दूसरे का मुंह न देखने वाले गठबंधन कर साथ आ रहे है- अमित शाह

0

बीजेपी आने वाले लोकसभा चुनावों की तैयारी में जुट गई है। इसी के चलते बीजेपी की दो दिवसीय राष्ट्रीय परिषद की बैठक दिल्ली के रामलीला मैदान में शुरू हो गई। इस बैठक में हिस्सा लेने के लिए पीएम मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी पहुंचे। इस मौके पर अमित शाह ने कहा  कि एक दूसरे का मुंह न देखने वाले आज हार के डर से एक साथ आ गए हैं, वो जानते हैं कि अकेले नरेंद्र मोदी जी को हराना मुमकिन नहीं है।

साथ ही, उन्होंने पीएम नरेन्द्र मोदी को दुनिया का लोकप्रिय नेता बताते हुए कि ऐसा कोई भी लीडर नहीं है, जो प्रधानमंत्री मोदी की तरह दुनिया भर में लोकप्रिय हो।

साथ ही, अमित शाह ने इस मौके पर कहा कि 1.5 करोड़ तक टर्नओवर वाले कंपोजिशन प्लान को स्वीकार करने वाले व्यापारियों को केवल 1% टैक्स देना होगा। यह लाखों छोटे व्यापारियों और छोटे उद्योगों के लिए एक बड़ा निर्णय है।

साथ ही, शाह ने कहा कि लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में 73 से 74 सीटें भाजपा की होगी। साथ ही, कहा कि 2014 में 6 राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की सरकारें थी और 2019 में 16 राज्यों में भाजपा की सरकारें हैं। 5 साल के अंदर भाजपा का गौरव दिन दोगुनी गति से बढ़ा है।

पत्रकार छत्रपति हत्याकांड: विशेष सीबीआई कोर्ट ने राम रहीम को दिया दोषी करार, 17 जनवरी को सुनाएंगे सजा

खबरों के अनुसार, अमित शाह में सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण को ऐतिहासिक फैसला बताया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जीएसटी काउंसिल की हर बैठक में चीजों के दाम कम किए गए हैं। साथ ही, कहा यह बैठक समान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर तबके के लोगों को शिक्षा एवं रोजगार में 10 प्रतिशत आरक्षण देने का प्रावधान करने वाले संविधान संशोधन विधेयक को लोकसभा और राज्यसभा की मंजूरी मिलने के बीच हो रही है। इसने हाल में संपन्न विधानसभा चुनावों में हिंदी पट्टी के तीन राज्यों मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में पार्टी को मिली हार के बाद भगवा पार्टी के मनोबल को बढ़ाया है।

Leave a Reply