लोकसभा चुनाव 2019: जाने, पहले चरण में 20 राज्यों की किन सीटों पर होगा मतदान

0
Lok sabha election 2019, First phase, PM Narendra Modi, Rahul Gandhi, BJP, Congress, Voting, Election commission, पोलिंग पार्टियां
Photo : ANI

लोकसभा चुनाव 2019 के मतदान का पहला चरण गुरुवार यानी 11 अप्रैल को होगा। पहले चरण में 20 राज्यों की 91 लोकसभा सीटों पर मतदान होगा। गुरुवार के मतदान के लिए चुनाव आयोग तैयारियां पुरी करने में जुट गया है। बुधवार यानी आज सुबह से ही अलग-अलग राज्यों व जिलों के चुनाव कंट्रोल रूम से चुनाव पार्टियों को रवाना किया जाने लगा है।

पहले चरण में यहां होंगे मतदान

पहले चरण में 11 अप्रैल को आंध्र प्रदेश की 25, अरुणाचल प्रदेश की दो, मेघालय की एक, उत्तराखंड की पांच, मिजोरम की एक, नागालैंड की एक, सिक्किम की एक, लक्षद्वीप की एक, अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह की एक और तेलंगाना की 17, असम की पांच, बिहार की चार, छत्तीसगढ़ की एक, जम्मू-कश्मीर की दो, महाराष्ट्र की सात, मणिपुर की एक, ओडिशा की चार, त्रिपुरा की एक, उत्तर प्रदेश की आठ और पश्चिम बंगाल की दो सीटों लोकसभा सीटों के लिए मतदान होगा। चुनाव आयोग ने सात चरणों में पूरे देश में लोकसभा चुनाव संपन्न कराने का कार्यक्रम तय किया है। 23 मई को सभी सीटों के लिए वोटों की गिनती होगी। उसी दिन शाम तक परिणाम सामने आने की उम्मीद है।

बता दे असम, जम्मू-कश्मीर, पश्चिम बंगाल सहित अन्य राज्यों से पोलिंग पार्टियों के रवाना होने की फोटो और खबरे सामने आ रही हैं। पोलिंग पार्टियों को उनकी ईवीएम मशीन और अन्य जरूरी दस्तावेजों व सामान के साथ चुनाव कंट्रोल रूम परिसर से ही बसों में बैठाकर रवाना किया जा रहा है। प्रत्येक बस में सुरक्षा बल के जवान भी मौजूद हैं। बसों के काफिलों के साथ अलग से भी सुरक्षा बलों और स्थानीय पुलिस का काफिला रवाना किया जा रहा है।

वही आपको बता दे पोलिंग पार्टियों को रवाना करने के लिए स्थानीय जिला प्रशासन के साथ चुनाव आयोग के अधिकारी भी चुनाव कंट्रोल रूम में मौजूद हैं। सबसे पहले दूर-दराज के इलाके की पोलिंग पार्टियों को रवाना किया जा रहा है। प्रथम चरण के मतदान कर्मियों को चुनाव ड्यूटी का प्रशिक्षण पहले ही दिया जा चुका है। पिछले तीन दिनों से उन्हें चुनाव ड्यूटी की ब्रीफिंग भी लगातार दी जा रही है। चुनाव ड्यूटी के दौरान मतदान कर्मियों और सुरक्षा बलों को क्या करना है और क्या नहीं, इसके लिए चुनाव आयोग की तरफ से उन्हें छोटी सी बुकलेट भी प्रदान की गई है।

देखे एक्ट्रेस सोफिया हयात का न्यूड फोटोशूट, रेप कल्चर को बढ़ावा देने का आरोप

मालूम हो कि पहले चरण का चुनाव प्रचार मंगलवार शाम पांच बजे से ही थम चुका है। इसके बाद ज्यादातर उम्मीदवार गुपचुप तरीके से डोर-टू-डोर कैंपेन चला रहे हैं। मतदान से एक दिन पहले बुधवार को चुनाव आयोग उम्मीदवारों पर भी कड़ी निगाह रखे हुए है। वोटिंग से एक दिन पहले कई इलाकों में राजनीतिक पार्टियों द्वारा मतदाताओं को शराब या रुपये बांटने की शिकायतें मिलती हैं। इसके मद्देनजर आयोग ने चुनाव ड्यूटी में लगे अपने अधिकारियों, स्थानीय प्रशासन व पुलिस समेत अन्य सुरक्षा अधिकारियों को बुधवार को पूरी मुस्तैदी बरतने का निर्देश दिया है।

अब ज्वैलरी से रुकेगी प्रेग्नेंसी, कंडोम-गोलियों की नहीं पड़ेगी जरूरत

Leave a Reply