बॉम्बे हाईकोर्ट ने नेस वाडिया के खिलाफ प्रीति जिंटा द्वारा दायर छेड़छाड़ का मामला रद्द किया

0

बॉम्बे हाईकोर्ट ने बुधवार को इंडियन प्रीमियर लीग मैच के दौरान उद्योगपति नेस वाडिया के खिलाफ अभिनेता प्रीति जिंटा द्वारा दायर एक छेड़छाड़ का मामला रद्द कर दिया है। न्यायमूर्ति रंजीत मोरे और न्यायमूर्ति भारती एच डांग्रे की एक खंडपीठ इस दायर याचिका को सुन रही थी। कोर्ट ने जिंटा और वाडिया को बुधवार को अदालत के समक्ष पेश होने के लिए कहा था।

अपनी पिछली सुनवाई में हाई कोर्ट ने प्रीती जिंटा को वाडिया द्वारा दायर याचिका का जवाब देने का निर्देश दिया था। हालांकि, जिंटा ने जवाब नहीं दिया। आपको बता दें कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मैच के दौरान 30 मई, 2014 को वानखेड़े स्टेडियम में जिंटा ने वाडिया को छेड़छाड़ और आपराधिक धमकी का आरोप लगाया था और मेरीन ड्राइव पुलिस स्टेशन में एफआइआर दर्ज की थी। दोनों किंग्स इलेवन पंजाब आईपीएल टीम के सह-मालिक हैं।

हालांकि वाडिया के खिलाफ चार्जशीट इस वर्ष  धारा 354 के तहत दायर की गई था। उन पर सरकारी कर्मचारी को अपने कर्तव्य के निर्वहन से रोकने के लिए हमला या आपराधिक बल, 506 आपराधिक धमकी और 509 शब्द, इशारा या कार्य भारतीय दंड संहिता की एक महिला की विनम्रता का अपमान करने का इरादा जैसी धाराएं लगी थी।

पुलिस के समक्ष अपने बयान को रिकॉर्ड करते समय प्रीती जिंटा ने ने कहा था कि वाडिया ने क्लब के कर्मचारियों को टिकट वितरण पर दुर्व्यवहार किया था। जब वो वातानुकूलित बॉक्स में बैठे थे। उसने, वाडिया को शांत होने के लिए कहा क्योंकि उनकी टीम जीत रही थी। वाडिया ने उनसे दुर्व्यवहार किया और उनकी बांह पकड़कर उनसे छेड़छाड़ की। प्रीती जिंटा ने चार तस्वीरें भी प्रस्तुत की थीं, जो उसके दाहिने हाथ पर ‘ब्रूस-जैसे’ निशान दिख रहे थे।

Leave a Reply