सबरीमाला मंदिर: अपने विवादित बयान पर केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने दी सफाई

0
Sabrimala Temple: Union Minister Smriti Irani on her controversial statement has given cleanliness
Photo : Google

केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सबरीमाला मंदिर पर हाल ही में दिए विवादित बयान पर सफाई पेश की है। उन्होंने कहा कि पारसी से शादी होने के बाद भी उन्हें मुंबई के फायर टेम्पल में जाने नहीं दिया जाता है लेकिन वह इस फैसले का सम्मान करती है। इस फैसले के खिलाफ वह आजतक कोर्ट नहीं गई।

स्मृति ने मंगलवार यानी कल एक विवादित बयान दिया था जिसमे उन्होंने कहा था कि महिलाएं पीरियड्स टाइम में खून से सना सैनिटरी नेपकिन अपने दोस्त के घर नहीं ले जाती तो भगवान के घर कैसे ले जा सकती है। इसी विवाद के चलते खुद के बचाव में उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक नया वीडियो डाला। स्मृति ने कहा कि इस वीडियो में पूरा बयान है। वीडियो के मुताबिक स्मृति अपने एक अनुभव को साझा कर रही थीं। इस वीडियो में वह बता रही हैं कि कैसे एक फायर टेंपल में धार्मिक रीति-रिवाज की वजह उन्हें प्रवेश नहीं करने दिया गया था। उन्होंने बताया कि इस रिवाज की वजह से उन्हें मुंबई के अंधेरी के फायर टेंपल के बाहर उन्हें खड़ा होना पड़ा था।

ईरानी ने अपने बयान पर खुद का बचाव करते हुए कहा कि ये दो बातें तथ्यात्मक हैं। बाकी सब प्रोपेगेंडा और उनके खिलाफ लॉन्च किया जा रहा एजेंडा है जिसके तहत उन्हें चारे के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है। जिस बयान पर विवाद पैदा हुआ है उस पर बोलते हुए ईरानी ने कहा कि वो जो पीरियड्स के खूने से सने पैड वाली महिला के किसी दोस्त के घर जाने वाले बयान पर बवाल मचा रहा हैं, उन्हें वो बताना चाहती हैं कि वो अभी भी ऐसे इंसान की तलाश में हैं जो खून से सना नैपकिन दोस्त क्या किसी को भी देती हो।

Leave a Reply