सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन से पहले ही सियासत ने पकड़ी तूल

0
The Signature Bridge, Manoj Tiwari, Manish sisodia, Deputy CM, Delhi, BJP
Photo : Google

दिल्ली मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल आज यानी रविवार को दिल्लीवासियों को तोहफे के रूप में सिग्नेचर ब्रिज देने जा रहा है। इस ब्रिज का सभी को लम्बे अरसे से इंतज़ार था जोकि आज ख़त्म होने जा रहा है।  आज शाम 4 बजे केजरीवाल इस ब्रिज का उद्घाटन करेंगे। लेकिन उद्घाटन से पहले ही इसको सियासत का रूप दिया जा रहा है। सभी अपनी अपनी सियासत करने के लगे हुए है। दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित और बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी को उद्घाटन में आने का निमंत्रण नहीं दिया है। मनोज तिवारी उद्घाटन क्षेत्र से सांसद है।

सिसोदिया ने बीजेपी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि इस ब्रिज का बनना बीजेपी सरकार के लिए बहुत शर्म की बात हो सकती है। लेकिन इस ब्रिज का बनना दिल्ली के लिए बहुत ही गर्व की बात है। BJP ने सिग्नेचर ब्रिज का काम रुकवाने की पुरजोर कोशिश की। नाकारा अफसरों को इंचार्ज बनाकर एक साल फाइलें नहीं हिलने दीं। अफसरों को डराया धमकाया। हमने लड़ लड़कर फाइलें क्लियर करवाईं। हर हफ्ते निरीक्षण किया।…आखिर सपना पूरा हुआ।

साथ ही, आपको बता दे कि दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी ट्वीट कर कहा कि वो इलाके के सांसद होने के नाते 3 बजे ही सिग्नेचर ब्रिज पर पहुंचकर अरविंद केजरीवाल का स्वागत करेंगे। जहां पर इस ब्रिज का उद्घाटन होना है वहां से सांसद मनोज तिवारी हैं, इसके बावजूद उनको दिल्ली सरकार से निमंत्रण नहीं मिला है। साथ ही, उन्होंने कहा कि ये 675 मीटर के पूल बनाने को 15 साल और 1500करोड़ रूपये लग गया काफ़ी शर्मनाक बात है। ये पुल पब्लिक के लिए बहुत ज़रूरी है।

Leave a Reply