ये पौधे लगाने से होगी आपके घर की हवा शुद्ध

0

पुराने समय में घर के पौधों को समय केवल घर के बड़े-बूढ़े लोग ही दे पाते थे। ऐसा भी केवल वो लोग कर पाते थे जिनके पास उन्हे पालने का ज्ञान है। हालांकि अब समय बदल गया है और अब यंग लोगो के बीच भी पेड़-पौधे लोकप्रिय होने लगे हैं।अगर आप या आपके परिवार में किसी को एलर्जी है, कोई धूम्रपान करता है या आप सिर्फ अपने घरों में ताजा, स्वच्छ हवा को सांस लेना चाहते हैं तो आज हम उन पौधों के बारे में बतायेंगे जो आसपास की हवा को शुद्ध करते हैं।

ताड़ का पेड़( palm): हमारा स्पिरिट बूस्टर
यह पौधे घर में बढ़ने में आसान हैं और अगर आप अच्छा महसूस नहीं करते है तो ये आपकी स्पिरिटस को भी लिफ्ट करता है। ये प्राकृतिक वायु शुद्धिकारक हैं और आसपास के इलाकों में फॉर्मल्डेहाइड, बेंजीन और कार्बन मोनोऑक्साइड को हटाते हैं। उनके द्वारा फैलाई गई ताजगी हमें आस-पास के माहौल में अच्छा महसूस कराएगी।

लिली का फूल: प्राकृतिक रुप से टॉक्सिन हटाने वाला
लिली फूल से लंबे समय तक ताजगी फैलती है। वे 12 डिग्री सेल्सियस से नीचे तापमान में छाया में बढ़ते हैं और एसीटोन, अमोनिया, बेंजीन, एथिल एसीटेट, फॉर्मल्डाहेहाइड, मिथाइल अल्कोहल, ट्राइकलोरेथिलीन और xylene जैसे हानिकारक विषाक्त पदार्थों को हटाते हैं।

पंजाब और हिमाचल में भारी बारिश के बाद हाई अलर्ट

फर्न्स: प्राकृतिक और एतिहासिक
फर्न्स आकर्षक नहीं हैं लेकिन ऐतिहासिक हाने के कारण काफी लोकप्रिय है। उनकी मुलायम पंख वाली पत्तियां उनकी सुंदरता बढ़ाने में योगदान देती हैं। इसके अलावा, हवा को टोल्यून और xylene से मुक्त करके, वे हमें वायु प्रदूषण से छुटकारा पाने में मदद करते हैं।

शेफलेरा: अवास्तविक सा पौधा
शेफ्लेरला चमकदार, मजबूत दिखने वाली ओवल पत्तियों वाला पौधा है। अपनी वैक्स चमक के कारण यह पौधा अवास्तविक सा लगता है। इसके साथ-साथ वे बेंजीन, फॉर्मल्डाहेहाइड और टोल्यून जैसे टॉक्सिन्स को भी सोखते हैं। ताड़ के पेड़ो की तरह, यह भी जिन घरों में धूम्रपान होता है वहां की हवा को साफ कर देता है।

एंथुरियम: अॉफिस और होटल के लिए
एंथुरियम केवल सुंदर नहीं हैं बल्कि अपनी एक्जोटिक लुक के कारण सुंदर और लंबे समय तक चलने वाला उपहार भी  है। वे अपने बड़े और काले पत्तियों के साथ अॉफिस लुक को और भी अच्छा बनाता है। ये अमोनिया, फ़ार्माल्डेहाइड, टोल्यून और xylene सोखते हैं।

मुंबई में पेट्रोल की कीमत 90 रुपये पार पहुँची

Leave a Reply