पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को एक केस में मिली राहत, दूसरे में सात साल कैद

0
Former Pakistan Prime Minister Nawaz Sharif gets relief in one case, seven years jail in other
Photo : Twitter

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को एक और बड़ा झटका लगा है। भ्रष्टाचार रोधी अदालत के जज मोहम्मद अरशद मलिक ने सोमवार यानी आज इस्लामाबाद की कोर्ट में फ्लैगशिप इन्वेस्टमेंट और अल-अजीजिया भ्रष्टाचार मामले पर अपना फैसला सुनाया है। अल-अजीजिया भ्रष्टाचार मामले में नवाज को भ्रष्टाचार रोधी कोर्ट ने 7 साल की सजा सुनाई है तो वहीं फ्लैगशिप इन्वेस्टमेंट मामले में सबूतों की कमी के कारण उन्हें बरी कर दिया गया है। इस बात की जानकारी न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने ट्वीट कर दी है। इसके अनुसार नवाज को एक मामले में राहत मिली है तो दूसरे मामले में झटका लगा है।

खबरों के अनुसार, नवाज पर सात साल की कैद के साथ-साथ 2.5 मिलियन डॉलर का जुर्माना भी लगाया गया है। साथ ही, नवाज शरीफ को कोर्ट के अंदर ही गिरफ्तार किया गया है। आपको बता दें कि नवाज शरीफ इससे पहले ही भ्रष्टाचार के मामले में सजा काट रहे हैं, पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें प्रधानमंत्री पद से बर्खास्त कर दिया था। नवाज शरीफ पर फैसले से पहले कोर्ट के बाहर भारी हंगामा हुआ। नवाज शरीफ के समर्थकों की वहां मौजूद पुलिस के साथ भिड़ंत हो गई हैं। इस बीच पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी दागे।

पश्चिम बंगाल में रथयात्रा को लेकर बीजेपी पंहुची सुप्रीम कोर्ट

साथ ही, बता दे कि एवनफील्ड प्रॉपर्टीज केस, फ्लैगशिप इन्वेस्टमेंट केस और अल-जजीजिया केस का खुलासा 2017 में हुआ था। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई 6 महीने में पूरा करने को कहा था, हालांकि लगातार अपीलों के बाद अब जाकर इस मामले में फैसले की घड़ी आई है। आपको बता दें कि इनमें से एवनफील्ड प्रोपर्टीज केस में इसी जुलाई में नवाज शरीफ को 11 साल, उनकी बेटी मरियम शरीफ को 8 साल और दामाद रिटायर्ड कैप्टन मोहम्मद सफदर को एक साल की सजा हुई थी।

Leave a Reply